Sad shayari , Download sad shayari image , Life sad shayari, two line sad shayari on life, friendship shayari

Hey friends, we have brought to you a new collection of sad shayari about life. We have also included some two line sad shayari on life. These shayaris have been written in english words too for the convenience of our readers.You can download sad shayari with image and share it on social media or in your shayari groups. These sad shayari have been written from real life experiences of what goes around us and also some feelings of individuals have been shared through these shayaris. These hindi sad shayari images can be shared by you in various groups or on your whatsapp status. Apart from this we have also included friendship shayari in hindi and friendship shayari in hindi images for our readers. You may dedicate this to your best friend. Hope you like this content with sad quotes and images. Please post your valuable comments about this collection.


1.


यहाँ  हर किसी को मनाते मनाते 
हर गैर को अपना बनाते बनाते 
मैं खुद ही भूल गया खुद को 
बंजरों में फूल खिलाते खिलाते


yha har kisi ko manate manate 
har gair ko apna banate banate 
mai khud hi bhool gaya khud ko
banjaro me fool khilate khilate

2.

जब इंसान का वक़्त बुरा हो ना 
तब अपने भी साथ छोड़ देते हैं 
जिनके लिए हम सबसे खास होते हैं 
बुरे वक़्त में वो भी रिश्ता तोड़ लेते है  


jab insaan ka waqt bura ho na,
tab apne bhi saath chhod dete hai
jinke liye hum sbse khaas hote hai,
bure waqt me wo bhi rishta tod lete hai

3.

पानी की तरह बाह्य दी अपनी कमाई आपनों को खुश रखने में 
वही अपने जो वक्त आने पर बोल पड़े "किया ही क्या है हमारे लिए"


paani ki tarah baha di apni kamai apno ko khush rakhne me
wahi apne..jo waqt aane pr bol pade "kiya hi kya hamare liye"

4.

अपनों को खोने के डर से मुट्ठी जितनी ज्यादा कसी मैंने
रिश्तों की रेत उतनी ही ज्यादा फिसलती चली गई 
जो खुली छोड़ दी मुट्ठी मैंने 
हथेली पर रखी रेत हवाओं संग उड़ती चली गई  


apno ko khone ke dar se mutthi jitni zyada kasi maine ,
rishton ki ret utni hi zyada  fisalti chali gayi
jo khuli chhod di mutthi maine, 
hatheli par rakhi ret hawaon ke sang udti chali gyi

5.

अक्सर बेवक्त आने वाली ज़िम्मेदारियाँ 
आँखों से सपनों को उड़ा देती है
बचपना दब जाता है कहीं दिल के अंदर 
जब ज़िंदगी समझदारी का पाठ पढ़ा देती है 
 

aksar bewaqt aane wali zimmedariyan,
aankho se sapne ko hi udaa deti hai,
bachpana dabb jata hai kahi dil ke andar,
jb zindagi samajhdari ka paath padha deti hai 

6.

जो अपने थे वो बेगाने होते चले गए 
हम बच्चे रहे और वो सयाने होते चले गए 
वक़्त की किताब को पलट कर उन किस्सों को ताज़ा करता हूँ कभी कभी 
वो किस्से जो वक़्त के साथ पुराने होते चले गए 


jo apne the wo begaane hote chale gaye 
hum bacche rahe aur wo sayaane hote chale gaye
waqt ki kitaab ko palat kar un kisso ko taaza karta hu kabhi kabhi 
wo kisse jo waqt ke saath puraane hote chale gaye

7.

ज़िंदगी का सफर है की खत्म ही नहीं होता 
ना जाने अभी वक़्त का सितम और कितना बाकी है 


zindagi ka safar hai ki khatm hi nahi hota
na jane abhi waqt ka sitam aur kitna baaki hai

8.

हमें बेचैनीयां देकर वो दिल का चैन ले गए 
आँसू देकर आँखों में वो सुकून भरे रैन ले गए 


hame bechainiya dekar wo dil ka chain le gaye
aansoo dekar aankho mein wo sukoon bhare rain le gye

9.

उम्र गुजर गई हमेशा अदब में रहते रहते 
इक दौर गुस्ताखियों का भी होना चाहिए था 
अब याद करने को कोई हसीन किस्सा ही नहीं 
इक दौर बदमाशीयो का भी होना चाहिए था 


umra guzar gayi hamesha adab mein rehte rehte 
ik daur gustakhiyo ka bhi hona chahiye tha
ab yaad karne ko koi haseen kissa hi nahi
ik daur badmashiyo ka bhi hona chahiye tha 

10.

ज़िंदगी का ज्यादा तजुर्बा तो नहीं मुझे 
जितना भी है उससे यही समझ आया 
की शरारतें उम्र रहते कर लेना चाहिए 
बुढ़ापे मे चेहरे पर मुस्कान उन यादों से ही आती है 


zindagi ka zyada tajurba to nahi mujhe,
jitna bhi hai usse yhi samajh aaya,
ki sharartein umra rehte kar lena chahiye,
budhape me chehre pr muskaan un yaado se hi aati hai 

Shayari on friendship in hindi. दोस्त पर हिन्दी में शायरी 

11.

वक़्त की मार से जब मुफलिसी का दौर आया 
बस एक मेरा यार था जिसको मैंने साथ खड़ा  पाया 
हर शख्स साथ छोड़ गया मेरे बिगड़ते हालात देख कर 
वो इकलौता था जिसे देखकर मैं गम मे भी मुस्कुराया 


waqt ki maar se jab muflisi ka daur aaya,
bs ek mera yaar tha jisko maine saath khada paaya,
har shaks saath chhod gaya mere bigadte halaat dekh kar,
wo eklauta tha jise dekhkar mai gum me bhi muskuraya

Sad shayari in hindi on mother and father. माता पिता पर हिन्दी मे उदास शायरी 

12.

बाप ने अपना खून तक बेच दिया 
बच्चों का कल बनाने में 
बच्चे पैसे का मुँह देखने लगे 
बाप की चीता जलाने में 


baap ne apna khoon tak bech diya
baccho ka kal banane mein
bacche paise ka mooh dekhne lage
baap ki chita jalane mein

13.

कभी गैरों का तो कभी आपनों का करम था 
किस्मत ने हथौड़ा भी तब मारा 
जब ज़िंदगी का माहौल बड़ा गरम था 


kabhi gairo ka to kabhi apno ka karam tha,
qismat ne hathauda bhi tab maara,
jab zindagi ka mahaul bada garam tha

14.

गैरों के आँसू पोंछना ठीक था 
पर आपनों को क्यों भुला दिया 
इक लड़की को खुश करना ठीक था
पर माँ को क्यों रुला दिया  


gairo ke aansoo pochna theek tha,
pr apno ko kyo bhula diya,
ik ladki ko khush karna theek tha,
pr maa ko kyo rula diya

15.

नाजाने  कैसा नशा है ये दौलत का 
की भाई भाई का गला काट देता है 
अजीब दौर आया है ऐ मेरे मौला 
अब इंसान माँ बाप तक को बाट देता है 


najane kaisa nasha hai ye daulat ka,
ki bhai bhai ka gala kaat deta hai
ajeeb daur aaya hai ae mere maula
ab insaan maa baap tak ko baat deta hai


2 comments: